Sunday , February 5 2023
Home / MainSlide / डा.खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के थे प्रथम स्वप्नदृष्टा – भूपेश

डा.खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के थे प्रथम स्वप्नदृष्टा – भूपेश

रायपुर 19 जुलाई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानी डा.खूबचंद बघेल राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे।हर छत्तीसगढ़िया के हित को पूरा करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ का निर्माण उनका महान लक्ष्य था।

श्री बघेल ने आज यहाँ अपने निवास कार्यालय से डॉ.बघेल की जयंती समारोह को वर्चुअल सम्बोधित करते हुए कहा कि डा.बघेल का व्यक्तित्व तथा कृतित्व बहुआयामी था।वे कुशल राजनीतिज्ञ के साथ-साथ साहित्यकार, समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी भी थे।उन्होंने कहा कि डा.बघेल की जीवन यात्रा कठिन संघर्ष से भरी रही। वे समाज में अन्याय, अत्याचार तथा शोषण के खिलाफ जीवनभर लड़ाई लड़ते रहे। उन्होंने समाज में ऊंच-नीच के भेदभाव को भी नकारा और समाज को एकसूत्र में पिरोने के लिए ’पंक्ति तोड़ो-समाज जोड़ो’ का महत्वपूर्ण नारा दिया।

उन्होने कहा कि राज्य सरकार द्वारा हमारे पुरखों तथा डां.बघेल के सपनों के अनुरूप विकास की राह पर छत्तीसगढ़ तेजी से आगे बढ़ रहा है और इसे निरंतर नये स्वरूप में गढ़ने का कार्य किया जा रहा है। यहां हर वर्ग के लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए अनेक नई-नई कल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, जिससे हर छत्तीसगढ़िया को आगे बढ़ने का बेहतर मौका मिल रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना तथा गोधन न्याय योजना जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।