Friday , June 14 2024
Home / MainSlide / हिमालय क्षेत्र में सडकों के जाल से क्षेत्र में पर्यटन को मिलेगा बढावा- गडकरी

हिमालय क्षेत्र में सडकों के जाल से क्षेत्र में पर्यटन को मिलेगा बढावा- गडकरी

श्रीनगर 28 सितम्बर।सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि हिमालय क्षेत्र में सडकों के जाल से क्षेत्र में पर्यटन को बढावा मिलेगा। उन्‍होंने कहा कि इससे रोजगार के अवसर उपलब्‍ध होंगे, गरीबी घटेगी और स्‍थानीय अर्थव्‍यवस्‍था मजबूत होगी।

श्री गडकरी ने आज जम्‍मू कश्‍मीर में ज़ोजिला और जे़ड मोरह सुरंग के प्रगति कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख क्षेत्र में 31 सुरंगों का निर्माण कार्य चल रहा है जिनकी कुल लम्बाई 53 किलोमीटर है।उन्होने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर में 32 किलोमीटर की टोटल 20 टनल बना रहे हैं और उसके साथ-साथ लद्दाख में 20 किलोमीटर की 11 टनल बना रहे हैं। काफी टनल टेंडर हुई है, काफी पूरी हुई है, काफी डीपीआर बन गया है और ये दोनों को पकड़कर ये टनल की कॉस्‍ट एक लाख 40 हजार करोड़ के ऊपर जाएगी और पहली बार 50 साल में जितना काम नहीं हुआ, ये दो साल में यहां होगा।

उन्होने सडक निर्माण को सामाजिक, आर्थिक विकास का केन्‍द्रबिंदु करार देते हुए कहा कि पिछले सातसाल में जम्‍मू कश्‍मीर में 669 किलोमीटर लम्‍बे राष्‍ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया गया है। उन्‍होंने कहा कि इन सुरंगों से भीषण सर्दी के मौसम में भी सडक संपर्क उपलब्‍ध होगा।

ज़ोजिला सुरंग की लम्‍बाई 14.15 किलोमीटर और ज़ेड मोरह की लम्‍बाई साढे छह किलोमीटर है। ज़ोजिला सुरंग भारत की सबसे लम्‍बी सडक सुरंग और एशिया की सबसे लम्‍बी दोतरफा सुरंग होगी। इसे 11 हजार 578 फुट की ऊंचाई पर बनाया जा रहा है।