Friday , June 21 2024
Home / MainSlide / ताप विद्युत संयंत्रों को कोयले की सुचारू आपूर्ति का एसईसीएल ने दिलाया भरोसा

ताप विद्युत संयंत्रों को कोयले की सुचारू आपूर्ति का एसईसीएल ने दिलाया भरोसा

रायपुर, 11 अक्टूबर।सार्वजनिक क्षेत्र के दक्षिण पूर्व कोयला प्रक्षेत्र लिमिटेड(एस.ई.सी.एल) ने भरोसा दिलाया हैं कि उसके द्वारा छत्तीसगढ़ के ताप विद्युत संयंत्रों के लिए प्रतिदिन 29 हजार 500 मेट्रिक टन कोयले की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां प्रदेश के ताप विद्युत संयंत्रों में कोयले की आपूर्ति एवं उपलब्धता की स्थिति की समीक्षा के दौरान एसईसीएल के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक अंबिका प्रसाद पंडा से कहा कि छत्तीसगढ़ की खदानों से कोयला निकालकर छत्तीसगढ़ सहित देश के अन्य राज्यों को कोयले की आपूर्ति की जाती है।चूंकि छत्तीसगढ़ से कोयले का उत्पादन किया जा रहा है, इसलिए एसईसीएल द्वारा प्राथमिकता के आधार पर छत्तीसगढ़ के ताप विद्युत संयंत्रों को उनकी आवश्यकता के अनुसार अच्छी गुणवत्ता के कोयले की सप्लाई की जानी चाहिए।

एसईसीएल के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक श्री पंडा ने कहा कि छत्तीसगढ़ को प्रतिदिन प्रदेश के ताप विद्युत संयंत्रों की आवश्यकता के अनुरूप 29 हजार 500 मेट्रिक टन कोयले की सप्लाई की जाएगी। साथ ही अच्छी गुणवत्ता का कोयले की भी आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने बताया कि बारिश के कारण कोयले की गुणवत्ता प्रभावित होती है। वर्तमान में एसईसीएल द्वारा छत्तीसगढ़ को 23 हजार 290 मेट्रिक टन कोयले की आपूर्ति की जा रही है। एसईसीएल के सीएमडी ने छत्तीसगढ़ के लिए इस मात्रा को बढ़ाकर 29 हजार 500 मेट्रिक टन करने की सहमति दी।

श्री बघेल ने बैठक में कहा कि रेलवे द्वारा छत्तीसगढ़ को कोयले और चावल के लिए आवश्यकतानुसार पर्याप्त संख्या में रेलवे रेक उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। जिस पर दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे के महाप्रबन्धक आलोक कुमार ने इसके लिए सहमति दी।   बैठक में मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत कम्पनियों के अध्यक्ष एवं विशेष सचिव ऊर्जा अंकित आनंद भी उपस्थित थे।