Wednesday , April 17 2024
Home / MainSlide / कांग्रेस का ईडी कार्यालय के सामने धरना

कांग्रेस का ईडी कार्यालय के सामने धरना

रायपुर 28 अगस्त।छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कार्यालय के सामने पूर्ववर्ती रमन सरकार के कथित घोटालों की जांच शुरू करने की मांग को लेकर आज से अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है।
     ईडी कार्यालय के सामने बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एकत्रित हुए और धरना शुरू कर दिया। कांग्रेस नेताओं द्वारा धरना स्थल पर लगातार भाषण दिया जा रहा है,जिसमें ईडी पर भाजपा के राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए कांग्रेस नेताओं और चुनाव की व्यवस्था में जुड़े नेताओं और नीतिकारों को परेशान करने,उनके यहां छापे डालने और उनके खिलाफ मामले दर्ज किए जाने का आरोप लगाया जा रहा है,वहीं बार बार शिकायतों के बाद पूर्ववर्ती रमन सरकार के घोटालों की जांच नही करने का आरोप लगाया जा रहा है।
    सूत्रों के अनुसार कांग्रेस कार्यकर्ता ईडी कार्यालय के सामने डटे रहेंगे और वहीं पर उनके भोजन एवं रात्रि विश्राम की भी व्यवस्था रहेंगी।धरना में शिफ्ट के अनुसार कार्यकर्ता और नेता बैठेंगे।धरना स्थल पर लाउडस्पीकर के साथ ही डीजे की भी व्यवस्था हैं जिससे बार बार ईडी से रमन सरकार के घोटाले की जांच की मांग हो रही है और उस पर भाजपा के राजनीतिक उद्देश्यों के लिए काम करने का आरोप लगाया जा रहा है।
    कांग्रेस ने कल ही ईडी के स्थानीय कार्यालय में निदेशक को सम्बोधित ज्ञापन देकर आरोप लगाया कि रमन सरकार के कार्यकाल में 36 हजार करोड़ का नान घोटाला,6200 करोड़ का चिटफंड घोटाला और हजारों करोड़ का रतनजोत घोटाला हुआ और इन घोटालों में सीधे सीधे मनीलांड्रिंग हुई।इनकी जांच के लिए मुख्यमंत्री कई पत्र ईडी को लिख चुके है पर अभी तक जांच शुरू नही हुई। उन्होने ज्ञापन में कहा कि यह घोटाला भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुआ इस कारण ईडी जांच नही कर रही है।
     छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रवर्तन निदेशालय(ईडी)पर भाजपा के राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए कल कहा था कि भाजपा के राज्य प्रभारी के दिए बयान से स्पष्ट हैं कि भाजपा राज्य में ईडी के बलबूते विधानसभा चुनाव लड़ेगी।