Saturday , March 2 2024
Home / जीवनशैली / हाई ब्लड शुगर हो सकती है खतरे की घंटी

हाई ब्लड शुगर हो सकती है खतरे की घंटी

ब्लड शुगर लेवल का बढ़ना, आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। ब्लड शुगर लेवल का बढ़ना प्री डायबिटीज या डायबिटीज का संकेत हो सकता है। इसलिए, शुगर लेवल को मैनेज करना बहुत जरूरी होता है। लेकिन, आपकी जीवनशैली की कुछ आदतें इसमें बाधा बन सकती हैं। इस वजह से, इन आदतों में बदलाव लाना, आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं कैसे कर सकते हैं हाई ब्लड शुगर से बचाव।

क्या होता है ब्लड शुगर?

हमारे शरीर को काम करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है, जो हमें कार्बोहाइड्रेट्स से मिलती है। कार्बोहाइड्रेट्स में ग्लूकोज होता है, जिससे हमारे शरीर को एनर्जी मिलती है। ब्लड में ग्लूकोज लेवल बढ़ने की वजह से, ब्लड शुगर हाई होता, जो डायबिटीज के खतरे को बढ़ाता है। इस कारण से, हमें सेहत से जुड़ी कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ब्लड शुगर की सामान्य रेंज फास्टिंग में 70mg/dL से 100mg/dL होनी चाहिए और खाने के 2 घंटे बाद 140mg/dL से कम होनी चाहिए। ब्लड शुगर लेवल बढ़ने की समस्या को हाइपरग्लाइसीमिया कहते हैं, जो अक्सर डायबिटीज के मरीजों को प्रभावित करती है।

कैसे ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने से रोकें?

एक्सरसाइज करें

ब्लड शुगर लेवल बढ़ने की सबसे बड़ी वजह फिजिकल एक्टिविटी का कम होना होता है। एक्सरसाइज करते वक्त आपकी बॉडी ग्लूकोज का इस्तेमाल करती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल मेंटेन होता है। इसके अलावा, एक्सरसाइज करने से बॉडी फैट भी कम होता है, जिससे मोटापे का खतरा कम होता है। एक्सरसाइज आपके दिल की सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। इसलिए, रोज थोड़ी देर योग या एरोबिक एक्सरसाइज करें।

डाइट का ख्याल रखें

डाइट का हमारी ब्लड शुगर पर सीधा प्रभाव पड़ता है। खाने में अधिक प्रोसेस्ड फूड, ज्यादा शुगर और नमक वाला खाना आपके ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकता है। इसलिए अपनी डाइट में हरी सब्जियां, फल, दही, साबुत अनाज आदि को शामिल करें। साथ ही, इस बात का भी ख्याल रखें कि आपकी डाइट में कार्ब्स की मात्रा नियंत्रित हो। इससे आपकी सेहत को काफी फायदा होगा। सभी पोषक तत्व मिलने के साथ-साथ, ब्लड शुगर भी मैनेज होगा।

फाइबर की मात्रा बढ़ाएं

खाने में फाइबर की मात्रा बढ़ाने से ब्लड शुगर लेवल को मैनेज किया जा सकता है। फाइबर धीरे-धीरे पचता है, जिस वजह से ब्लड शुगर में स्पाइक नहीं आता। इसके अलावा, फाइबर पाचन के लिए भी फायदेमंद होता है। साथ ही, यह कोलेस्ट्रोल कम करने और वजन कम करने में भी मददगार होता है।

स्ट्रेस कम करें

हमारी जीवनशैली की वजह से हम स्ट्रेस का शिकार हो सकते हैं। स्ट्रेस की वजह से हमारी बॉडी कॉर्टिसोल रिलीज करती है, जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाता है। इसलिए स्ट्रेस मैनेजमेंट सीखें। इसमें योग, मेडिटेशन और जर्नलिंग आपकी मदद कर सकते हैं।

नींद पूरी करें

नींद की कमी की वजह से, हमारा ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। नींद की कमी होने से, इंसुलिन रेजिस्टेंस बढ़ता है और स्ट्रेस हार्मोन कॉर्टिसोल भी रिलीज होता है। इसलिए रोज 7-8 घंटे की भरपूर नींद लेना जरूरी है।