Tuesday , March 5 2024
Home / MainSlide / भारत की दूसरी तिमाही की आर्थिक वृद्धि वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक-सीतारामन

भारत की दूसरी तिमाही की आर्थिक वृद्धि वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक-सीतारामन

नई दिल्ली 07 दिसम्बर।वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन ने कहा है कि देश में आर्थिक हालात बेहतर हैं और अर्थव्‍यवस्‍था के सभी क्षेत्र महत्‍वपूर्ण प्रगति कर रहे हैं।

      श्रीमती सीतारामन ने राज्‍य सभा में देश की आर्थिक स्थिति पर अल्‍पकालिक बहस का जवाब देते हुए कहा कि भारत विश्‍व में विनिर्माण के क्षेत्र में दूसरा सबसे बड़ा आकर्षक स्‍थल है। उन्‍होंने सदन में मंगलवार को शुरू हुई बहस का जवाब देते हुए उद्योग जगत में देश की उपलब्‍धियां भी गिनाई।

    वित्‍तमंत्री ने कहा कि इस वर्ष प्रत्‍यक्ष कर संग्रह में करीब 22 प्रतिशत की वृद्धि हुई है जबकि जीएसटी का मासिक संग्रह एक लाख साठ हजार करोड़ रुपए पर स्‍थि‍र रहा है। उन्‍होंने कहा कि यह सभी संकेत आर्थिक वृद्धि को दर्शाते हैं। उन्‍होंने कहा कि जुलाई से सितम्‍बर के दौरान सकल घरेलू उत्‍पाद में वृद्धि देखी गई तथा भारत ने सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्‍था की गति को लगातार बरकरार रखा।

    श्रीमती सीतारामन ने कहा कि जुलाई से सितम्बर की तिमाही में विश्‍व की तीसरी और चौथी सबसे बडी अर्थव्‍यवस्थाओं में गिरावट देखी गई। उन्‍होंने कहा कि दूसरी तिमाही में सात दशमलव छह प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करना भारत के लिए काफी महत्‍वपूर्ण है।

  वित्‍तमंत्री ने कहा कि केवल पिछले आठ वर्ष में भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बडी अर्थव्‍यवस्‍था बना है। उन्‍होंने कहा कि मेक इन इंडिया कार्यक्रम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना-पी एल आई योजनाओं के कारण विनिर्माण क्षेत्र भी अब अर्थव्‍यवस्‍था में महत्‍वपूर्ण योगदान कर रहा है।

  श्रीमती सीतारामन ने कहा कि बेरोजगारी दर 2017-18 में 17.08 प्रतिशत से घटकर दस प्रतिशत पर आ गई है। उन्‍होंने बताया कि महंगाई पर काबू पाने के लिए सरकार ने कई उपाय किए है। चर्चा में विभिन्‍न राजनीतिक दलों के सदस्यों ने हिस्‍सा लिया।