Thursday , February 2 2023
Home / MainSlide / सहकारिता किसानों और ग्रामीणों के जीवन में बदलाव लाने का सशक्त माध्यम-भूपेश

सहकारिता किसानों और ग्रामीणों के जीवन में बदलाव लाने का सशक्त माध्यम-भूपेश

रायपुर 22 जुलाई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि सहकारिता किसानों और ग्रामीणों के जीवन में बदलाव लाने का सशक्त माध्यम है।यह हमारे ग्रामीण अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण अंग है।

श्री बघेल आज यहां अपने निवास कार्यालय से जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित रायपुर के अध्यक्ष के पदभार ग्रहण समारोह को वर्चुअल रूप से सम्बोधित कर रहे थे।उन्होने कहा कि राज्य में हमारी सरकार बनने के बाद सहकारिता के क्षेत्र की जटिलताओं को दूर करने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं।राज्य सरकार की मंशा है कि सहकारिता के सरलीकरण कर ग्रामीण अंचल के अधिक से अधिक लोगों को लाभ दिया जाए।

उन्होंने कहा कि राज्य में सहकारिता का सरलीकरण के प्रयासों के फलस्वरूप किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी में किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ा। किसानों की सुविधा को ध्यान में रखकर ही सभी धान खरीदी केन्द्रों को सोसाइटी बनाया गया है, इससे पिछले साल धान खरीदी में काफी सुविधा हुई किसी भी स्थान में किसानों को लम्बी लाइनें नहीं लगानी पड़ी। बैंकों में भी भुगतान सरलता और सुविधाजनक ढ़ंग से हुआ।

श्री बघेल ने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र को मजबूत बनने के लिए गोधन न्याय योजना को भी जोड़ा गया है। इस योजना में महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित वर्मी कम्पोस्ट और सुपर कम्पोस्ट का विक्रय सहकारी समितियों के माध्यम से किया जा रहा है। इसी प्रकार गौठानों में बनाए जा रहे रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क, वनोपज संग्रहण से जड़े लोगों के द्वारा राशि का लेन-देन सहकारी बैंकों के माध्यम से हो रहा है, इससे सहकारी बैंकों को नए क्षेत्र में कार्य विस्तार का अवसर मिल रहा है।