Saturday , June 22 2024
Home / MainSlide / विपक्ष के हंगामे के कारण नही हो सकी प्रश्नकाल की कार्यवाही

विपक्ष के हंगामे के कारण नही हो सकी प्रश्नकाल की कार्यवाही

रायपुर 28 जुलाई।छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज विपक्षी सदस्यों के सदन की कार्यवाही को रिकार्डिंग कर सोशल मीड़िया में चलाए जाने तथा स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव के सदन को कल छोड़कर चले जाने को लेकर हंगामे के कारण आज विधानसभा में प्रश्नकाल की कार्यवाही नही हो सकी।

विधानसभा अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने कार्यवाही शुरू होते ही विधानसभा परिसर में मंत्रियों एवं विभिन्न कक्षों में लगी टीवी से सदन की कार्यवाही को रिकार्डिंग कर सोशल मीडिया में चलाए जाने का उल्लेख करते हुए इसे गंभीर मामला बताया,और कहा कि यह बहुत ही अनुचित है और इसकी भविष्य में पुनरावृत्ति नही होनी चाहिए।अध्यक्ष की व्यवस्था के बाद वरिष्ठ भाजपा सदस्य अजय चन्द्राकर ने भी तक सोशल मीडिया में सदन में मुख्यमंत्री के बयान को चलाए जाने को लेकर सवाल उठाया।

श्री चन्द्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री का सदन में बयान सोशल मीडिया में कैसे चलता है,इसकी जांच के लिए कमेटी बनना चाहिए।वरिष्ठ भाजपा सदस्य बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि यह विशेषाधिकार हनन का मामला हैं और इस मुद्दे पर तुरंत चर्चा होनी चाहिए।अध्यक्ष ने सदस्यों से प्रश्नकाल चलते देने का अनुरोध किया।इस पर श्री चन्द्राकर ने उनसे कहा कि आपने प्रश्नकाल में व्यवस्था दी है,इसलिए इसकी गंभीरता को देखते हुए चर्चा होनी चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष धरम कौशिक ने कहा कि प्रश्नकाल एवं बजट को छोड़कर न तो सदन के नेता न ही प्रतिपक्ष के नेता को कार्यवाही का वीडियो वायरल करने की अनुमति है।इसके विपरीत कार्य हो रहा है जोकि बेहद आपत्तिजनक है।इसी बीच जनता कांग्रेस के सदस्य धर्मजीत सिंह ने सत्ता पक्ष के एक मंत्री सदन को छोड़कर चले गए,संवैधानिक परिस्थिति काफी गंभीर है।उन्होने कहा कि मंत्री की स्थिति स्पष्ट होनी चाहिए।

भाजपा सदस्य श्री अग्रवाल ने संविधान के अनुच्छेद 164 का उल्लेख करने के साथ अध्यक्ष के निर्देश पर मंत्री सिंहदेव के कल सदन छोड़ते समय दिए व्यक्तव्य का उल्लेख किया।श्री अग्रवाल ने कहा कि मंत्री सदन छोड़कर चला जाय यह भी विशेषाधिकार हनन का मामला है।अध्यक्ष ने कहा कि मंत्री ने जब तक स्थिति स्पष्ट नही होती का कथन किया है,वह अभी स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहते है,उनके निर्देश पर संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे खड़े हुए,लेकिन विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण उनका कुछ कथन सुनाई नही पड़ा।हंगामे के बीच अध्यक्ष ने कार्यवाही को पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी।

सदन की कार्यवाही जब फिर शुरू हुई तो भाजपा सदस्य श्री अग्रवाल ने मंत्रिमंडल नही है।संविधान का उल्लंघन हुआ है।अध्यक्ष डा.महंत ने कहा कि मंत्रिमंडल बैठा है।इसी बीच जनता कांग्रेस सदस्य धर्मजीत सिंह ने कहाकि विधायक मंत्री विवाद में मंत्री तो कल बयान देकर गए है लेकिन विधायक वृहस्पति सिंह का पता नही है।ऐसी चर्चा है कि उन्हे बलपूर्वक सदन में आने से रोक दिया गया है।भाजपा सदस्यों ने भी उनका साथ दिया,इसी बीच वृहस्पति सिंह सदन में आ गए।इस बीच भी हंगामा जारी रहने पर अध्यक्ष ने कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी।