Monday , January 30 2023
Home / देश-विदेश / यूपी ने ओढ़ ली धुंध की चादर, जानें क्या है आपके शहर का हाल, चेक करें एक्‍यूआई

यूपी ने ओढ़ ली धुंध की चादर, जानें क्या है आपके शहर का हाल, चेक करें एक्‍यूआई

सर्दियों के आने के साथ, यूपी ने धुंध की चादर ओढ़ ली और कुछ शहरों की हवा अभी भी ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही। राजधानी लखनऊ में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 319 रहा। इसके अलावा ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘खतरनाक’ श्रेणी में बनी हुई है, क्योंकि SAFAR ने गुरुवार सुबह ग्रेटर नोएडा का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 413 दर्ज किया। हालांकि लखनऊ के 6 केंद्रो में से दो का एक्यूआई 200 से कम भी रहा। जिसमें आंबेडकर यूनिवर्सिटी पर 227, सेंट्रल स्कूल पर 216, गोमती नगर पर 112, कुकरैल पर 153, लालबाग पर 319 और तालकटोरा पर 288 एक्यूआई दर्ज किया गया।

इसके अलावा यूपी के कुछ शहरों में बहुत खराब श्रेणी में हवा की गुणवत्ता दर्ज की गई है। कुल 3 शहरों में एक्यूआई 300 के पार मिला है। इनमें बुलंदशहर में 316, गाजियाबाद में 381 और नोएडा में 356 एक्यूआई दर्ज करने के साथ हवा की गुणवत्ता बेहद खराब पाई गई। इससे अलग कुछ शहरों में एक्यूआई 200 के पार भी रहा। इससे हवा की गुणवत्ता इन शहरों में खराब श्रेणी में मापी गई। इनमें आगरा में 222, बागपत में 208, हापुड़ में 204, झांसी में 224, कानपुर में 238, मेरठ में 284 और मुजफ्फरनगर में 245 एक्यूआई दर्ज किया गया है।

अन्य शहरों में हवा की गुणवत्ता ठीक श्रेणी में रही। इन शहरों का एक्यूआई 50 से 200 के बीच दर्ज किया गया। बता दें कि सर्दियों की शुरुआत के साथ ही भारत के ज्यादातर राज्यों में पारा लुढ़कने लगा है। उत्तर भारत में दिसंबर की शुरुआत से मौसम में बदलाव देखा जा सकता है। दिल्ली, यूपी, बिहार, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश समेत कई राज्यों में ठंड बढ़ने के आसार हैं। राजधानी लखनऊ में भी ठंड बढ़ने लगी है। अगले कुछ दिनों में तापमान में और गिरावट आ सकती है। गुरुवार सुबह कई शहरों में कोहरा छाया रहा। साथ ही वायु प्रदूषण का स्तर और भी बिगड़ सकता है।

शहरस्थानAQIहवा कैसी है
आगरामनोहरपुर71ठीक है
 रोहता97ठीक है
 संजय पैलेस222खराब है
 आवास विकास कॉलोनी86ठीक है
 शाहजहां गार्डेन114अच्छी नहीं है
 शास्त्रीपुरम117अच्छी नहीं है
बागपतकलेक्टर ऑफिसडाटा नहीं है 
 सरदार पटेल इंटर कॉलेज208खराब है
बरेलीसिविल लाइंस147अच्छी नहीं है
 राजेंद्र नगर162अच्छी नहीं है
बुलंदशहरयमुनापुरम316बहुत खराब है
फिरोजाबादनगला भाऊडाटा नहीं है 
 विभब नगर127अच्छी नहीं है
गाजियाबादइंदिरापुरम300खराब है
 लोनी326बहुत खराब है
 संजय नगर353बहुत खराब है
 वसुंधरा381बहुत खराब है
गोरखपुरमदन मोहन मालवीय तकनीकी विश्वविद्यालय103अच्छी नहीं है
ग्रेटर नोएडानॉलेज पार्क 3373बहुत खराब है
 नॉलेज पार्क 5413खतरनाक है
हापुड़आनंद विहार204खराब है
झांसीशिवाजी नगर224खराब है
कानपुरकिदवई नगर171अच्छी नहीं है
 आईआईटीडाटा नहीं है  
 कल्याणपुर191अच्छी नहीं है
 नेहरू नगर238खराब है
खुर्जाकालिंदी कुंज176अच्छी नहीं है
लखनऊआंबेडकर यूनिवर्सिटी227खराब है
 सेंट्रल स्कूल216खराब है
 गोमती नगर112अच्छी नहीं है
 कुकरैल153अच्छी नहीं है
 लालबाग319बहुत खराब है
 तालकटोरा288खराब है
मेरठगंगा नगर174अच्छी नहीं है
 जय भीम नगर284खराब है
 पल्लवपुरम197अच्छी नहीं है
मुरादाबादबुद्धि विहार131अच्छी नहीं है
 इको हर्बल पार्क129अच्छी नहीं है
 रोजगार कार्यालय163अच्छी नहीं है
 जिगर कॉलोनी163अच्छी नहीं है
 कांशीराम नगर117अच्छी नहीं है
 लाजपत नगरडाटा नहीं है 
 ट्रांसपोर्ट नगर92ठीक है
मुजफ्फरनगरनई मंडी245खराब है
नोएडासेक्टर 125271खराब है
 सेक्टर 62273खराब है
 सेक्टर 1311बहुत खराब है
 सेक्टर 116356बहुत खराब है
प्रयागराजझूंसी155अच्छी नहीं है
 मोतीलाल नेहरू एनआईटी153अच्छी नहीं है
 नगर निगम174अच्छी नहीं है
वाराणसीअर्दली बाजार148अच्छी नहीं है
 भेलपुर130अच्छी नहीं है
 बीएचयू136अच्छी नहीं है
 मलदहिया158अच्छी नहीं है
वृंदावनओमेक्स इटर्निटी139अच्छी नहीं है
नोट- AQI केकिस रेंज का आपके लिए क्या मतलब हैनीचे का टेबलचेक कर लें
AQI का रेंजहवा का हालस्वास्थ्य पर संभावित असर 
0-50अच्छी हैबहुत कम असर
51-100ठीक हैसंवेदनशील लोगों को सांस की हल्की दिक्कत
101-200अच्छी नहीं हैफेफड़ा, दिल और अस्थमा मरीजों को सांस में दिक्कत
201-300खराब हैलंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर किसी को भी सांस में दिक्कत
301-400बहुत खराब हैलंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर सांस की बीमारी का खतरा
401-500खतरनाक हैस्वस्थ आदमी पर भी असर, पहले से बीमार हैं तो ज्यादा खतरा