Tuesday , May 28 2024
Home / खास ख़बर / जानें परीक्षा में बेहतर अंक लाने के लिए लास्ट मिनट पर क्या करे,तो आइए डालते हैं एक नजर

जानें परीक्षा में बेहतर अंक लाने के लिए लास्ट मिनट पर क्या करे,तो आइए डालते हैं एक नजर

परीक्षा की तैयारी में मॉक टेस्ट आपकी बेहद मदद करेंगे इसलिए अब परीक्षा में जब महज तीन दिन का समय बचा है तो कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट में शामिल हों। इससे आपको अपनी तैयारी का अंदाजा लग सकेगा।

This image has an empty alt attribute; its file name is %E0%A4%93%E0%A4%AA-3.jpg

नीट पीजी परीक्षा का आयोजन 05 मार्च, 2023 को होना है। परीक्षार्थियों के पास अब तैयारी के लिए बेहद कम समय बचा है। ऐसे में हम आपको कुछ बाते बातें बताने जा रहे हैं, जिनका परीक्षा में बेहतर अंक लाने के लिए लास्ट मिनट पर ध्यान देना जरूरी है। आइए डालते हैं एक नजर।

सबसे पहला और अहम है कि परीक्षा के लास्ट मिनट में किसी भी नए टॉपिक को पढ़ने से बचना चाहिए। स्टूडेंट्स ध्यान दें कि उन्होंने जो कुछ भी अभी तक पढ़ा है सिर्फ उसको ही रिवाइज करें।

नीट पीजी परीक्षा 3 दिन बाद होनी है और इसलिए नए टॉपिक्स और नई चीजों को नहीं पढ़ने के अलावा उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि जो अहम टॉपिक्स और क्वैश्चन हैं उन पर फोकस करें।

परीक्षा की तैयारी में मॉक टेस्ट आपकी बेहद मदद करेंगे, इसलिए अब परीक्षा में जब महज तीन दिन का समय बचा है तो कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट में शामिल हों। इससे आपको अपनी तैयारी का अंदाजा लग सकेगा।

एग्जाम में बेहतर तैयारी के साथ-साथ जरूरी है कि आपको खुद पर पूरा भरोसा हो। आपका आत्मविश्वास कमजोर न हो। इसलिए जरूरी है कि एग्जाम का स्ट्रैस न लें। आपने जितना भी पढ़ा है सिर्फ उसको ही अच्छे से परीक्षा में प्रस्तुत करें। अक्सर परीक्षार्थी एग्जाम के वक्त ज्यादा तनाव ले लेते हैं और इसका नतीजा ये होता है कि वे अच्छे से परफॉर्म नहीं कर पाते हैं। इसलिए इस बात का ध्यान रखें।

तय शेड्यूल पर होगी परीक्षा  

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने NEET PG 2023 परीक्षा को स्थगित करने की मांग को मानने से इनकार कर दिया है। देश की सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि यह परीक्षा अपने तय शेड्यूल के अनुसार ही आयोजित की जाएगी।

वहीं, याचिकाकर्ता NEET PG 2023 परीक्षा को दो से तीन महीने टालने की मांग कर रहे थे। बता दें कि नीट पीजी परीक्षा के माध्यम से एमडी, एमएस, पीजी डिप्लोमा, पीजी डीएनबी कोर्सेज में दाखिला मिलता है। हर साल लाखों की संख्या में एमबीबीएस डिग्रीधारक डॉक्टर इस परीक्षा में बैठते हैं।