Monday , April 15 2024
Home / खास ख़बर / भारत-श्रीलंका संबंधों को मजबूत करने के लिए हुयी फेरी सर्विस शुरू

भारत-श्रीलंका संबंधों को मजबूत करने के लिए हुयी फेरी सर्विस शुरू

केंद्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग और आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने तमिलनाडु के नागापट्टिनम और श्रीलंका के कांकेसंतुराई के बीच फेरी सेवा को हरी झंडी दिखाई। इस समारोह में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

तमिलनाडु के नागपट्टिनम और श्रीलंका के कांकेसंथुराई के बीच फेरी सेवा के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए। इस समारोह को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने नागपट्टिनम और कांकेसंतुराई के बीच फेरी सेवा के शुभारंभ को भारत-श्रीलंका संबंधों को मजबूत करने में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर बताया है।

उन्होंने भारत-श्रीलंका के संबंधों पर कहा, ‘भारत और श्रीलंका संस्कृति, वाणिज्य और सभ्यता का गहरा इतिहास साझा करते हैं। हम भारत और श्रीलंका के बीच राजनयिक और आर्थिक संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत कर रहे हैं। यह नौका सेवा उन सभी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंधों को जीवंत बनाती है।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘कनेक्टिविटी के लिए हमारा दृष्टिकोण परिवहन क्षेत्र से परे हैं। यूपीआई के कारण भारत में डिजिटल भुगतान जीवन का एक तरीका बन गया है, हम यूपीआई और लंका पे को जोड़कर फिनटेक सेक्टर कनेक्टिविटी पर काम कर रहे हैं।’

श्रीलंका के राष्ट्रपति ने बताया महत्वपूर्ण कदम
श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने इसे भारत-श्रीलंका के बीच कनेक्टिविटी को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण कदम है। दोनों देशों के बीच की कनेक्टिविटी उत्तर में हो रहे युद्ध के कारण बाधित हो गया था, लेकिन अब फिर से एक बार कनेक्टिविटी को बढ़ाने का कार्य शुरू किया गया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने इस बारे में पीएम मोदी से बात की थी और मैं उनका और भारतीय शिपिंग निगम का उनके किरदार के लिए धन्यावाद करता हूं।’

केंद्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग और आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने तमिलनाडु के नागापट्टिनम और श्रीलंका के कांकेसंतुराई के बीच फेरी सेवा को हरी झंडी दिखाई। 
इस समारोह में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। उन्होंने इस उद्घाटन को भारत और श्रीलंका के लोगों के बीच संपर्क के लिए एक बड़ा कदम बताया है।