Monday , April 15 2024
Home / राजनीति / सीएम ने किया 233.20 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण

सीएम ने किया 233.20 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण

सीएम योगी रविवार सुबह 11 बजे नगर निगम परिसर पहुंचे, जहां उनकी मौजूदगी में नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) और नगर निगम के बीच कूड़े से चारकोल बनाने के प्लांट की स्थापना के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर हुआ।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शारदीय नवरात्र के पहले दिन गोरखपुर महानगर को 233.20 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी। इस दौरान उनके समक्ष नगर निगम और एनटीपीसी के मध्य कूड़े से चारकोल बनाने के प्लांट की स्थापना के लिए एमओयू भी हुआ।

सीएम ने नगर निगम की 303 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण समारोह एवं एमओयू आदान प्रदान समारोह में कहा कि नगरीय विकास आज की आवश्यकता है। भारत को दुनिया की आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए नगरीय विकास की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इससे लोगों को शासन की योजनाओं का लाभ तो मिलेगा ही, बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन की संभावना भी बढ़ेगी।

रविवार सुबह नगर निगम परिसर में आयोजित समारोह में सीएम ने 189 विकास कार्यों का शिलान्यास व 114 विकास कार्यों का लोकार्पण किया। इस दौरान उनके समक्ष नगर निगम एवं नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन के बीच कूड़े से चारकोल बनाने का प्लांट स्थापित करने के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) का आदान प्रदान भी हुआ।

समारोह को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि स्मार्ट सिटी की परिकल्पना को साकार करने के लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की महती भूमिका है। गोरखपुर नगर निगम ने एनटीपीसी के सहयोग से इस दिशा में बड़ा कदम बढ़ाया है। एनटीपीसी की तरफ से प्लांट लग जाने के बाद नगर निकायों का कूड़ा चारकोल के रूप में बिजली उत्पादन का साधन बनेगा।

सीएम ने कहा कि नगरीय विकास के क्षेत्र में अनियोजित और अवैज्ञानिक विकास की सोच ने बड़ी समस्या खड़ी कर दी थी। जगह-जगह कूड़े का पहाड़ दिखता था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत मिशन ने इस समस्या के निदान में व्यापक और सकारात्मक परिवर्तन किया है। इसी कड़ी में गोरखपुर नगर निगम ने नगरीय जीवन को स्वच्छ और सुंदर बनाने के साथ आधुनिक तकनीक से वेस्ट को वेल्थ बनाने की पहल की है। स्मार्ट सिटी बनाने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

शहर के एंट्री पॉइंट पर अब नहीं दिखेगा कूड़ा
सीएम ने कहा कि सॉलिड वेस्ट का उचित प्रबंधन न होने से कूड़ा ऐसे ही यहां-वहां फेंक दिया जाता था। शहर के एंट्री पॉइंट पर कूड़े के ढेर के दर्शन होते थे। इससे सिटी के विकास पर पानी फिरता दिखता था। अब ऐसा प्लांट लगने जा रहा है जहां कूड़े से चारकोल, सीएनजी का उत्पादन होगा। एनटीपीसी के इस प्लांट से नगर निगम को 25 सालों में 600 करोड़ रुपये की बचत होगी। बचत के इस रुपये का उपयोग विकास के कार्यों में होगा। 500 टन प्रतिदिन कूड़े की जरूरत वाले इस प्लांट से नगर निगम के साथ ही जिले की तमाम नगर पंचायतों के कूड़े का भी समुचित निस्तारण हो जाएगा। इससे शहर के एंट्री पॉइंट पर कूड़ा नहीं दिखेगा और बाहर से आने वाले लोगों के मन में अच्छा संदेश जाएगा। गोरखपुर साफ और सुंदर दिखेगा तो लोगों के मन में यहां के नागरिकों के प्रति सम्मान का भाव बढ़ेगा। सीएम ने बताया कि एनटीपीसी नगर निगम और सरकारी भवनों पर सोलर पैनल भी लगवाएगा और इससे सोलर सिटी के रूप में भी गोरखपुर की पहचान सुदृढ़ होगी। इसके लिए सीएम ने एनटीपीसी को धन्यवाद दिया।

 

नगरीय विकास के मॉडल के रूप में स्थापित हो रहा गोरखपुर
सीएम योगी ने गोरखपुर के विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि गोरखपुर नगरीय विकास के मॉडल के रूप में स्थापित हो रहा है। सड़क, जलनिकासी, स्ट्रीट लाइट जैसे बुनियादी कार्यों के साथ बुजुर्गों के केयर सेंटर बन रहे हैं। मियावाकी पद्धति से एक लाख वर्गमीटर में सिटी फॉरेस्ट विकसित किया जा रहा है। सुरक्षा के लिए आईसीसीसी के माध्यम से हर चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे से निगरानी हो रही है। इससे ट्रैफिक ऑटो मोड में चलने के साथ सुरक्षा से कोई खिलवाड़ भी नहीं कर पाएगा। मुख्यमंत्री ने सखाद कारखाना, एम्स, बीआरडी मेडिकल कॉलेज, रामगढ़ताल का उल्लेख करते हुए कहा कि ये सब गोरखपुर को नई पहचान दे रहे हैं। गोरखपुर की सड़कें चार-छह लेन में विकसित हुई हैं और हो रही हैं। जबकि छह वर्ष पहले यहां लोग जाम में फंसते थे। जलभराव की समस्या का स्थायी समाधान हो रहा है। उन्होंने सभी नागरिकों को नवरात्र की शुभकामनाएं दीं और विकास की सोच के साथ आगे बढ़ने का आह्वान किया।

सीएम योगी के चलते पूरे देश में गोरखपुर की चर्चा: रविकिशन
इस अवसर पर सांसद रविकिशन शुक्ल ने कहा कि सीएम योगी ने गोरखपुर को इंसेफेलाइटिस, माफिया से मुक्त कर विकास के पथ पर अग्रसर किया है। योगी जी के चलते पूरे देश में गोरखपुर की चर्चा है। सीएम योगी के कथनी करनी में कोई अंतर नहीं है। समारोह को विधायक विपिन सिंह ने भी संबोधित किया। स्वागत संबोधन मेयर डॉ. मंगलेश श्रीवास्तव व आभार ज्ञापन नगर आयुक्त गौरव सिंह सोगरवाल ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से विधायक प्रदीप शुक्ल, पूर्व मेयर सीताराम जायसवाल, अंजू चौधरी, डॉ. सत्या पांडेय, भाजपा के महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्त आदि की उपस्थिति रही।

255 करोड़ से स्थापित होगा कूड़े से चारकोल बनाने का प्लांट
नगर निगम के कार्यक्रम के मंच पर सीएम योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में नगर निगम और एनटीपीसी के विद्युत व्यापार निगम लिमिटेड के बीच चारकोल प्लांट स्थापित करने का एमओयू हुआ। प्लांट एनटीपीसी की तरफ से लगाया जाएगा। नगर निगम की तरफ से नगर आयुक्त गौरव सिंह सोगरवाल तथा एनटीपीसी की तरफ से सीईओ रेनू नारंग ने एमओयू का आदान प्रदान किया। इस एमओयू के अनुसार एनटीपीसी, नगर निगम की तरफ से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए सहजनवा के सुथनी में ली गई जमीन पर 255 करोड़ रुपये की लागत से 500 टन प्रतिदिन की क्षमता का चारकोल प्लांट लगाएगा। चारकोल बनाने के लिए कूड़े की व्यवस्था नगर निगम की तरफ से की जाएगी।

 

सीएम ने किया नारी शक्ति का सम्मान
शारदीय नवरात्र के पहले दिन आयोजित नगर निगम के विभिन्न विकास कार्यों के शिलान्यास एवं लोकार्पण समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नारी शक्ति का भी सम्मान किया। मिशन शक्ति के तहत सीएम के हाथों सम्मानित होने वाली 10 महिलाओं ने स्वच्छता समेत अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य किया है।

सीएम योगी ने बुकलेट व पोस्टर का विमोचन किया 
समारोह के मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आईईसी क्रियाकलापों के बुकलेट तथा जीरो वेस्ट त्योहार के पोस्टर का विमोचन किया।

गार्बेज कलेक्शन एवं ट्रांसपोर्टेशन के वाहनों को दिखाई हरी झंडी
सीएम योगी ने शास्त्री चौक से नगर निगम के गार्बेज कलेक्शन एवं ट्रांसपोर्टेशन के वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के मॉडल का सीएम ने किया अवलोकन
मंच पर आगमन से पूर्व मुख्यमंत्री ने नगर निगम परिसर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के मॉडल का अवलोकन किया। उन्होंने बायो सीएनजी प्लांट, कूड़े से चारकोल बनाने के प्लांट व आरआरआर (रिड्यूस, रीयूज, रिसाइकिल) सेंटर के मॉडलों को देखा और इसके क्रियात्मक पक्ष के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली।

बच्चों को कराया अन्नप्राशन
कार्यक्रम स्थल पर सीएम योगी ने नन्हें-मुन्ने बच्चों को अन्नप्राशन कराया। उन्होंने बच्चों को खूब दुलारा और आशीर्वाद देकर उनके स्वस्थ एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की।