Monday , June 24 2024
Home / MainSlide / वीरांगना लोधी ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी -भूपेश

वीरांगना लोधी ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी -भूपेश

राजनांदगांव  20 मार्च।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी ने देश की आजादी और स्वाभिमान की रक्षा के लिए अंग्रेजों से युद्ध किया। देश के हित में अपने प्राणों का बलिदान देने वाली विभूतियां किसी एक समाज एवं धर्म के नहीं होते बल्कि संपूर्ण समाज के लिए आदरणीय होती हैं।

श्री बघेल ने आज जोगी दल्ली में आयोजित वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी बलिदान दिवस के कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि लोधी समाज का भी प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। लोधी समाज छत्तीसगढ़ सहित उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश एवं अन्य प्रदेशों में निवासरत है। लोधी समाज के लोग विशेषकर खेती-किसानी से जुड़े हुए हैं। खेती-किसानी की स्थिति को सुधारने के लिए प्रदेश में नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना संचालित की जा रही है। जिले में सिंचाई सुविधाएं तो हैं लेकिन पर्याप्त सिंचाई के लिए नरवा बनाकर जल स्तर बढ़ाने की आवश्यकता है, ताकि सतही एवं भूमिगत जल का उपयोग किया जा सके। इससे वॉटर रिचार्जिंग होगा।

उन्होने गांव के शीतला तालाब सौन्दर्यीकरण, सामुदायिक भवन निर्माण, नवीन पंचायत भवन निर्माण, शमशानघाट में सड़क निर्माण की घोषणा की तथा सर्व समाज के भवन निर्माण के लिए 10 लाख रूपए और लाल बहादुर नगर में 15 लाख रूपए की लागत से सामाजिक भवन निर्माण की घोषणा की।

श्री बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत 44 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की गई। कई ग्रामवासियों ने धान और गोबर का विक्रय कर वाहन खरीदा। सुराजी ग्राम योजना छत्तीसगढ़ की परंपरा को पुनर्जीवित करने की योजना है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत कल 21 मार्च को सभी किसानों के खाते में चौथी किश्त की राशि प्रदान की जाएगी।