Tuesday , July 16 2024
Home / छत्तीसगढ़ / कोयले की दर में वृद्धि के चलते बिजली कंपनी ने बढ़ाए वीसीए चार्ज, पढ़े पूरी खबर

कोयले की दर में वृद्धि के चलते बिजली कंपनी ने बढ़ाए वीसीए चार्ज, पढ़े पूरी खबर

कोयले की दर में वृद्धि के कारण दिसंबर 2022 और जनवरी 2023 के दौरान लागू वेरियेबल कास्ट एडजस्टमेंट (वीसीए चार्ज) में 49 पैसे की वृद्धि हो रही है। पूर्व में यह दर 61 पैसे प्रति यूनिट थी, जो अब बढ़कर 1.10 रूपए प्रति यूनिट हो गई है। नए साल में जनवरी-फरवरी 2023 के बिजली बिल में 1.10 रूपये प्रति यूनिट की दर से वीसीए प्रभार जुड़ेगा।

बिजली वितरण कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग द्वारा अधिसूचित बहुवर्षीय टैरिफ सिद्धांतों के अनुरूप अगस्त और सितंबर 2022 के दौरान वीसीए का निर्धारण किया गया है। इस दौरान छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी द्वारा क्रय की गई बिजली की लागत में विद्युत नियामक आयोग द्वारा अनुमोदित दर की तुलना में 549 करोड़ रुपए की सकल वृद्धि हुई है। इसमें प्रमुख हिस्सा 459 करोड़ रूपये एनटीपीसी का है। हालांकि छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत उत्पादन कंपनी के बिल में नियामक आयोग द्वारा अनुमोदित दर की तुलना में लगभग 26.51 करोड़ रूपये की कमी आई है। वर्तमान में वीसीए की गण्ाना प्रत्येेक दो माह में की जाती है।

विद्युत उत्पादन के लिए विद्युत गृहों को मुख्य रूप से कोयला व तेल की आवश्यकता होती है। इन दोनों की कीमत बाजार मूल्य के अनुरूप घटती-बढ़ती रहती है। राज्य विद्युत नियामक आयोग द्वारा विद्युत दरों के निर्धारण के उपरांत ईंधन कीमत में बढ़ी अथवा घटी हुई कीमत के समायोजन के लिए वीसीए की दर की गणना करता है। वीसीए चार्ज में हाफ रेट बिजली योजना का लाभ भी मिलता है। इलेक्ट्रिसिटी एक्ट की धारा 62(4) के तहत वीसीए चार्ज लेने का प्रविधान है। विद्युत वितरण्ा कंपनी के कुल खर्च का लगभग 85 प्रतिश्ात बिजली खरीदने पर व्यय होता है। यह व्यय ईंधन की दर के अनुरूप घटता या बढ़ता रहता है। इसे बाद में वीसीए सरचार्ज के तौर पर समायोजित किया जाता है।