Sunday , March 3 2024
Home / छत्तीसगढ़ / जीआरपी की एंटी क्राइम टीम को फिर मिली बड़ी सफलता, हत्थे चढ़े दो गांजा तस्कर…

जीआरपी की एंटी क्राइम टीम को फिर मिली बड़ी सफलता, हत्थे चढ़े दो गांजा तस्कर…

जीआरपी की एंटी क्राइम टीम को फिर एक बड़ी सफलता मिली है। पूरी से योग नगरी ऋषिकेश जा रही उत्कल एक्सप्रेस के जनरल कोच से दो युवकों को 31 किलो 300 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया है। जब्त गांजा की कीमत तीन लाख 13 हजार रुपये की गई है।
शासकीय रेलवे पुलिस अधीक्षक व उप पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर एंटी क्राइम टीम बिलासपुर समेत अन्य स्टेशनों से गुजरने वाली सभी ट्रेनों की नियमित जांच कर रही है। इसके साथ ही मुखबीर तंत्र भी मजबूत किया गया है। इसी के चलते टीम को लगातार सफलता हासिल हो रही है। बुधवार को सूचना मिली कि उत्कल एक्सप्रेस में बड़ी मात्रा में गांजा की तस्करी होने वाली है।इस जानकारी के बाद टीम के सदस्य आरक्षक लक्ष्मण गाईन, आरक्षक संतोष राठौर, आरक्षज राजा दुबे व आरक्षक मन्नू प्रजापति ने ट्रेन के कोच की जांच की। जांच के दौरान जनरल कोच में दो युवक संदिग्ध नजर आए। पुलिस को देखकर दोनों युवक को छिपने का प्रयास कर रहे थे। इस पर टीम के सदस्यों का संदेह यकीन में बदल गया। दोनों युवकों को पकड़कर पूछताछ की गई। इस दौरान पहले तो वह जीआरपी को सही जानकारी नहीं दे रहे थे। पर जब उनके पास रखें चारों बैग की तलाशी ली गई तो, उसके अंदर से 31 किलो 300 ग्राम गांजा बरामद हुआ। इस पर गिरफ्तार युवकों को जीआरपी थाने लाया गया।

यहां पूछताछ के दौरान आरोपितों ने अपना नाम राकेश चौकसे (32) निवासी पनागर वार्ड नंबर – 8 चौकसे मोहल्ला नरसिंहपुर मध्य प्रदेश बताया। दूसरा आरोपित मोनू राय (30) है। वह मिरी वार्ड, पिपरिया जिला होशंगाबाद का रहने वाला है। दोनों गांजा को भुनेश्वर से लेकर आ रहे थे। इस मामले में बिलासपुर जीआरपी ने आरोपितों के खिलाफ 20 (बी) नारकोटिक्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। उन्हें न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा।