Saturday , May 18 2024
Home / छत्तीसगढ़ / छत्तीसगढ़ में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 4.1 की थी तीव्रता

छत्तीसगढ़ में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 4.1 की थी तीव्रता

छत्तीसगढ़ में शुक्रवार सुबह 10.28 बजे भूकंप के झटके आया। भूकंप का झटका करीब छह सेंकेंड तक महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र अंबिकापुर से 22 किलोमीटर दूर सूरजपुर जिले के भटगांव के पास बताया गया है।
उत्तरी छत्तीसगढ़ भूकंप के लिहाज से संवेदनशील बन गया है। उत्तरी छत्तीसगढ़ भूकंप के फाल्ट जोन में है। शुक्रवार 24 मार्च की सुबह 10.28 बजे भूकंप के जोरदार झटके से लोग घरों के बाहर आ गए। भूकंप के झटके करीब छह सेकेंड तक महसूस किए गए। इसकी तीव्रता रिएक्टरर स्केल पर 4.1 बताई गई है। भूकंप का केंद्र अंबिकापुर से 22 किलोमीटर दूर सूरजपुर जिले के भटगांव के पास भूतल से 67 किलोमीटर अंदर था। भूकंप का झटका सरगुजा, कोरिया, सूरजपुर, बलरामपुर सहित जशपुर जिलों में भी महसूस किए गए। अंबिकापुर में भूकंप के झटकों के कारण लोग घरों से बाहर आ गए। वहीं सूरजपुर जिले के भटगांव एवं विश्रामपुर क्षेत्र में एसईसीएल की भूमिगत खदानों में भूकंप का तेज झटका महसूस किए जाने की खबर है। अब तक किसी नुकसान की जानकारी नहीं मिल पाई है। दस महीने में छठवां झटका दस माह में छठवां झटका- उत्तर छत्तीसगढ़ फाल्ट जोन में है। पिछले 10 माह में यह उत्तर छत्तीसगढ़ में भूकंप का छठवां झटका है। हालांकि ज्यादातर झटकों का अंतराल कम होने के कारण कई बार लोगों को इसका पता नहीं चल पाया। इसके पूर्व 10 अक्टूबर 2022 को शुक्रवार सुबह 5 बजकर 28 मिनट पर 4.8 तीव्रता का भूकंप आया था। भूकंप का केंद्र बैकुंठपुर से 7 किमी की दूरी पर गेज बांध के करीब था। इससे पहले 04 अगस्त 2022 को लगभग 12 बजे 3.7 मैग्नीट्यूट तीव्रता का भूकंप आया था, जिसका केंद्र सूरजपुर से 11 किलोमीटर दूर भूतल से 10 किलोमीटर अंदर था। बैकुंठपुर से लगे सोनहत क्षेत्र में 29 जुलाई 2022 को 4.7 तीव्रता का भूकंप आया था। इस दौरान चरचा अंडर ग्राउंड माइंस में एयर ब्लास्ट होने से दर्जनभर मजदूर घायल हो गए थे। इनमें से चार को अपोलो रिफर किया गया था। भूकंप का केंद्र बैकुंठपुर के पास सोनहत क्षेत्र में धरातल से 16 किलोमीटर की गहराई में था। यहां 11 जुलाई को भी 4.3 तीव्रता का भूकंप आया था। कोरिया जिले के सोनहत क्षेत्र में तीन वर्ष पूर्व भी 4.7 मेग्नीट्यूट का भूकंप आया था।