Wednesday , April 24 2024
Home / छत्तीसगढ़ / छत्तीसगढ़: कलेक्टर ने दिए आदेश, आपदा से निपटने के लिए लोगों को करेंगे जागरूक

छत्तीसगढ़: कलेक्टर ने दिए आदेश, आपदा से निपटने के लिए लोगों को करेंगे जागरूक

कलेक्टर प्रियंका ऋषि महोबिया ने एनडीआरएफ टीम के द्वारा किए जाने वाले मॉक अभ्यास के संबध में भी जानकारी ली और संबंधित अधिकारियों को मॉक अभ्यास हेतु आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

जिले के कलेक्ट्रेट में अरपा सभाकक्ष में आपदाओं से निपटने के लिए टेबल टॉक का आयोजन किया गया। इस दौरान राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के द्वारा आपदाओं के दौरान राहत और बचाव कार्यों में इस्तेमाल होने वाली तकनीकों के बारे में जानकारी दी गई।

राहत और बचाव कार्यों के दौरान बरती जाने वाली आवश्यक सावधानियों और योजनाबद्ध तरीके से राहत कार्यों को अंजाम देने के संबंध में बताया गया। कलेक्टर प्रियंका ऋषि महोबिया ने कहा कि आपदा प्रबंधन एवं राहत कार्य में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ टीम के साथ सभी विभागों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है।

इस टेबल टॉक में विभागीय अधिकारी उनके द्वारा किए जाने वाले कार्यों को बारीकी से समझा। आपदा कभी भी बताकर नहीं आती, इसलिए इसकी तैयारी पहले से ही होना चाहिए। उन्होंने स्कूली विद्यार्थियों और समुदायों के बीच विभिन्न प्रकार के आपदाओं से निपटने जनजागरूकता बढ़ाने पर जोर दिया।

कलेक्टर प्रियंका ऋषि महोबिया ने एनडीआरएफ टीम के द्वारा किए जाने वाले मॉक अभ्यास के संबध में भी जानकारी ली और संबंधित अधिकारियों को मॉक अभ्यास हेतु आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। डिप्टी कमांडेंट कन्हैया योगी ने बताया कि एनडीआरएफ टीम द्वारा आज सुबह 8 बजे से मलेनिया डैम में आपदा मॉक अभ्यास का आयोजन किया गया।

यह अभ्यास एक वास्तविक आपदा स्थिति की नकल करने और आपातकालीन सेवाओं व समुदाय साथियों की तैयारी और प्रतिक्रिया क्षमताओं का मूल्यांकन करने के लिए डिज़ाइन किया गया। इसका उद्देश्य आपातकालीन सेवाओं, सरकारी एजेंसियों और समुदाय संगठनों के बीच समन्वय और सहयोग को बढ़ावा देना है। इस अवसर पर अपर कलेक्टर नम्रता आनंद डोंगरे, उप पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे, एसडीएम मरवाही दिलेराम डाहिरे सहित संबंधित अधिकारी और एनडीआरएफ की 30 सदस्यीय टीम उपस्थित थी।