Thursday , June 13 2024
Home / छत्तीसगढ़ / छत्तीसगढ़: सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, एनकाउंटर में एक नक्सली ढेर

छत्तीसगढ़: सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, एनकाउंटर में एक नक्सली ढेर

सुकमा जिले के टेटराई और तोलनाई के जंगलों में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर हो गया। टेटराई और तोलनाई के जंगलों में नक्सलियों के जमावड़े की सूचना मिली थी। इसके बाद इलाके में सर्च अभियान चलाया गया और इस दौरान शनिवार की सुबह तड़के डीआरजी के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई और इस मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। इस मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया। मामले की पुष्टि सुकमा एसपी किरण चव्हाण ने की है।

नक्सलियों के खिलाफ जारी है ऑपरेशन

छत्तीसगढ़ में सरकार बनते ही भाजपा ने तीन साल में नक्सलवाद के खात्मे का दावा किया था। जिसके बाद से बस्तर में लगातार नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी है। इस ऑपरेशन को “ऑपरेशन सूर्य शक्ति” का नाम दिया गया है जिसके तहत 4 महीने में 103 नक्सलियों को मार गिराने का दावा पुलिस ने किया है। इसमें नारायणपुर और बीजापुर जिले में नक्सलियों को बड़ा नुकसान हुआ है।

अंदरूनी इलाकों में स्थापित किए गए कैंप ऑपरेशन में सहायक

पिछले 5 सालों में बस्तर के बीजापुर नारायणपुर और सुकमा जिले में नक्सलियों के प्रभाव क्षेत्र में कई कैंपों की स्थापना की गई है। इसके बाद जवानों को बड़े ऑपरेशन चलाने में सबसे बड़ी चुनौती कम समय में टारगेट इलाके की दूरी तय करना आसान हो गया है। क्योंकि इस तरह के ऑपरेशन पहले भी चलाए जाते थे, लेकिन 50 से 100 किलोमीटर की टारगेट दूरी होने की वजह से ऑपरेशन के दौरान जवान पूरी तरह से टूट चुके होते थे और नक्सली थके हुए जवानों को एंबुश में फांसकर उन्हें बड़ा नुकसान पहुंचाते थे। वक्त पर बैकअप तक नहीं मिल पाता था इन कैंपों की स्थापना के बाद टारगेट की दूरी और बैकअप के लिए कैम्पों को सबसे ज्यादा सहायक माना जा रहा है।